rust over FMCG over rights to Glow and Lovely and Glow and Handsome, Emami said, “My trademark will take legal advice against HUL” | ग्लो एंड लवली और ग्लो एंड हैंडसम के अधिकार को लेकर दो दिग्गज एफएमसीजी में जंग, इमामी ने कहा मेरा ट्रेडमार्क, एचयूएल के खिलाफ लीगल सलाह लेगी


  • एचयूएल ने अपने प्रोडक्ट्स का नाम ‘फेयर एंड लवली’ से बदलकर ‘ग्लो एंड लवली’ तो पुरुषों के प्रोडक्ट के लिए ‘ग्लो एंड हैंडसम’ नाम रखा
  • इमामी ने कहा इस नाम पर हमारी लीगल ओनरशिप है, एचयूएल हमेशा हमारे ब्रांड की इमेज को बिगाड़ता है

दैनिक भास्कर

Jul 02, 2020, 08:24 PM IST

नई दिल्ली. अमेरिका में ब्लैक एंड व्हाइट (#Blacklivesmatter) के मुद्दे पर चली बहस अब भारत में दो दिग्गज एफएमसीजी कंपनियों को आमने-सामने कर दिया है। हिंदुस्तान यूनिलीवर (HUL) और इमामी ग्रुप (Emami) के बीच ग्लो एंड हैंडसम नाम को लेकर लड़ाई छिड़ी है। एचयूएल ने गुरुवार को बताया कि उसने अपने प्रोडक्ट का नाम ‘फेयर एंड लवली’ से बदलकर ‘ग्लो एंड लवली’ कर दिया है। इसके कुछ ही घंटे बाद इमामी ने एक स्टेटमेंट जारी कर कहा कि यह नाम उसका पेटेंट और ट्रेडमार्क है। एचयूएल का यह कदम सही नहीं है। इसके लिए वह कानूनी सलाह लेगी।

यह प्रोडक्ट मार्केट में अगले कुछ महीनों से उपलब्ध होगा  

बता दें कि गुरुवार को हिंदुस्तान यूनिलीवर (एचयूएल) ने कहा कि उसने फेयर एंड लवली का नाम बदलकर ग्लो एंड लवली कर दिया है। यह महिलाओं के लिए प्रोडक्ट है। यह प्रोडक्ट बाजार में अगले कुछ महीनों से उपलब्ध होगा। इसी तरह पुरुषों के प्रोडक्ट के लिए उसने ग्लो एंड हैंडसम नाम रख दिया है। इसके कुछ ही घंटे बाद इमामी ने एक प्रेस रिलीज जारी किया। इमामी ने कहा कि स्टॉक एक्सचेंज पर एचयूएल के अनाउंस को हमने देखा है। इस अनाउंस में कंपनी ने भविष्य में प्रोडक्ट पर फेयर की जगह ग्लो और हैंडसम शब्द का उपयोग किया है।

इमामी ने कहा एचयूएल ने लिया गलत फैसला

इमामी ने कहा कि एचयूएल का पुरुषों की रेंज में ग्लो एंड हैंडसम का फैसला गलत है। फेयर एंड हैंडसम ब्रांड हमारा मार्केट लीडर ब्रांड है और इस पर हमारी लीगल ओनरशिप है। साथ ही यह हमारा ट्रेडमार्क भी है। हम एक हफ्ते पहले ही इसे इमामी ग्लो एंड हैंडसम के रूप में लांच किए हैं। इसे संबंधित अथॉरिटी के पास आवेदन के लिए भी भेजा जा चुका है।

एचयूल हमेशा से बिगाड़ा है हमारी ब्रांड इमेज

इमामी ने कहा कि हम एचयूएल के इस अनफेयर बिजनेस प्रैक्टिस से शाॅक्ड नहीं हैं क्योंकि एचयूएल हमेशा हमारे ब्रांड की इमेज को बिगाड़ता है। यह ब्रांड इक्विटी के रूप में एक मजबूत ब्रांड है और इसकी कोई तुलना नहीं है। हम इस बारे में अपने लीगल एक्सपर्ट से सलाह ले रहे हैं और आगे इस पर फैसला लेंगे।

फेयर एंड लवली का हिस्सा फेस केयर कैटिगरी में 40 प्रतिशत 

इमामी के इस फैसले ने देश की दो दिग्गज एफएमसीजी कंपनियों को ब्रांड नाम को लेकर आमने-सामने खड़ा कर दिया है। बता दें कि एचयूएल के फेयर एंड लवली का हिस्सा फेस केयर कैटिगरी में भारत में 40 प्रतिशत है। एक हफ्ते पहले एचयूएल की पैरेंट कंपनी यूनिलीवर ने अपने फेयर शब्द को बदलने का फैसला किया था।

ग्लो एंड हैंडसम को लेकर अभी भी रेगुलेटरी मंजूरी बाकी है

गुरुवार को एचयूएल ने कहा कि हमने फेयर शब्द को हटा दिया है। हालांकि नए नाम ग्लो एंड हैंडसम को लेकर अभी भी रेगुलेटरी मंजूरी बाकी है। इस बदले हुए नाम का पैक बाजार में अगले कुछ महीनों में उपलब्ध होगा। बता दें कि इससे पहले लॉरियल ने अपने प्रोडक्ट के नाम में इस तरह के शब्दों को हटा दिया था। इसी तरह जानसन एंड जानसन ने भी हाल में अपने इस तरह के ब्रांड को मार्केट से हटा लिया था।



Source link

Leave a Reply