एक तरफ तो लोगों को घर पर बैठने की अपील और दूसरी और अपने ही दरबार में प्रशासन लगवा रहा हैं लोगों की हाजरिया देखिए फोटो और वीडियो

🐂आ बेल मुझे मार : कोरोना को रोकने वाला प्रशासन ही भारी भीड़ जुटा कर रहा बड़ी लापरवाही, जालन्धर वालों का तो अब रब ही राखा – DC साहब की करनी कथनी में अंतर

जालंधर //( सुमेश शर्मा,सुनील चावला)- एक तरफ जहां पूरे भारत में करोना वायरस के चलते हुए लॉक डाउन किया गया है वही जालंधर प्रशासन की तैयारियों की खामी भी नजर आई है जिसमें सैकड़ों दूध फल,सब्ज़ी विक्रेता एसडीएम दफ्तर के बाहर कर्फ्यू पास के लिए लाइनों में एकत्रित नजर आये, लगातार बढ़ती भीड़ इन लोगों के लिए खतरे का कारण बन रही है। कर्फ्यू का पास बनवाने के लिए दूध सब्जी फल व्यापारी एसडीएम दफ्तर के बाहर पहुंचे हुए हैं हालांकि इन्हें अनाउंसमेंट करके हिदायत दी जा रही है कि वह एक दूसरे से कम से कम 1 मीटर की दूरी बनाकर ही खड़े हो ,वही यह प्रश्न चिन्ह उठता है कि प्रशासन की ऐसी लापरवाही कहीं किसी के लिए खतरा ना बन जाए , क्योंकि लोगों के घर तक जरूरी सेवाएं पहुंचाना प्रशासन की जिम्मेदारी है वही इन लोगों को भी सुविधा में कुछ बेहतरी करनी चाहिए ताकि कर्फ्यू पास लेने के लिए आए लोगों की भीड़ इकट्ठी ना हो वहीं दुकानदारों का कहना है कि प्रशासन दूध ,फल ,सब्जी विक्रेताओं को कर्फ्यू पास देने की बात तो कह रहा है लेकिन इस में होने वाली देरी के कारण काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है जिसके लिए जालंधर प्रशासन को जल्द ही सख्त कदम उठाने की जरूरत है । आज दिन में भी सोशल मीडिया पर एक लिस्ट वायरल हुई जिसमें जरूरी सेवाओं के साथ उनके फोन नंबर दिए गए थे। लोगों का कहना है कि जब उन्होंने दवा लेने के लिए दुकानदार को फोन किया तो आगे से जवाब आया यह तो नंबर ही किसी किराना शॉप का है। ऐसी गलतियां प्रशासन के ढिलमुल रवैया का ही नतीजा है।
जालंधर के डिप्टी कमिश्नर सोशल मीडिया पर वीडिया जारी कर बड़े-बड़े दावे किए थे कि आम जनता को किसी प्रकार की असुविधा नहीं होने दी जाएगी और ना ही किसी आवश्यक वस्तु की अपूर्ति में कमी आने दी जाएगी। लेकिन आज शहर के मौजूदा हालात देख कर इन सारे दावों की पोल खुल गई और सब खोखले साबित हुए। ऐसा लगता है जैसे प्रशसानिक अधिकारियों के आदेशों को निचले स्तर के अधिकारी मानने में रूची नहीं दिखा रहे।वही रामा मंडी क्षेत्र से दूध की कालाबजारी होनी भी शुरू हो चुकी है आज दूध का पैकेट 30 रु में बेचे जाने की जानकारी सामने आई है जिसपर तुरन्त लगाम लगनी अति आवश्यक है।

 

Video dc office

खबर लिखते लिखते ही सामने आये दो बयान
DC कार्यालय, DFSC व DMO कार्यालय में राशन, सब्जी, दूध, दवाई आदि सप्लाई करने वालो की कर्फ्यू कार्ड लेने के लिए लगी भीड़ के चलते मीडिया से विशेष बातचीत में SDM डॉ. जय इंदर सिंह ने बड़ा बयान दिया है। दुकानदार दुकान खोल कर भीड़ एकत्रित नही कर सकता बल्कि डोर टू डोर सप्लाई अवश्य कर सकता है। उसे फिलहाल किसी प्रकार के कार्ड की आवश्यकता नही परन्तु उनके वाहनो पर सप्लाई करने वाला सामान होना अति आवश्यक है। अगर कोई विक्रेता के सामान के बिना पकड़ा गया तो उस पर अवश्य कार्यवाही होगी। उन्होंने जोर देते हुए कहा कि दुकान नही खुलेगी ओर खाली वाहन नही छोड़ा जाएगा। सिर्फ सप्लायर को सामान संग कोई नही रोकेगा।कुछ इसी तरह का संदेश देहाती पुलिस के नवजोत माहल ने भी अपने थाना प्रभारियों को फ़ोन पर दिए इन्होंने भी नाके पर तैनात पुलिसकर्मियों को एक निश्चित दूरी बनाकर लोगो की मदद करने के लिए कहा।

Leave a Reply