27 अप्रैल को श्री केदारनाथ यात्रा मार्ग पर लगने वाले दूसरे सालाना विशाल भव्य लंगर को लेकर किया गया मीटिंग का आयोजन

शिव भक्तों की सेवा में 24 घंटे हाजिर रहेंगे जालंधर के शिवभक्त जिनेश अरोड़ा
जालंधर // (DP NEWS)- आज श्री केदारनाथ लंगर कमेटी रजि. जालंधर कीं मीटिंग अध्यक्ष श्री जनेश अरोड़ा की अध्यक्षता में वरिष्ठ उपाध्यक्ष श्री संजीव शर्मा जी के निवास स्थान कालिया कालोनी जालंधर में हुई जिसमें साल 2020 में भोले शंकर जी के ग्यारहवें ज्योतिर्लिंग श्री केदारनाथ धाम यात्रा मार्ग सोनप्रयाग, शटल पुल के पार ( उत्तराखंड) में तिथि 27 अप्रैल से 15 जून तक भंडारा लगाने हेतु एवं कुछ अन्य संगठनात्मक विषयों पर विचार विमर्श किया गया
चैयरमेन श्री प्रमोद कुमार ने बताया कि श्री केदारनाथ धाम यात्रा मार्ग में सरकार द्वारा कार्य काफी जोर शोर से चल रहा हैं मार्ग में यात्रियों की सुविधा एवं सुरक्षा के लिए हर संभव प्रयास किया जा रहा हैं
श्री केदारनाथ लंगर कमेटी रजि. जालंधर के उप चैयरमेन जतिंदर कुमार एवं उपाध्यक्ष कपिल कोहली ने बताया कि पिछले हफ्ते कमेटी के सदस्यों द्वारा रुद्रप्रयाग जाकर डी. एम. दफ्तर में भंडारा लगाने हेतु परमिशन ऐप्लिकेशन फॉर्म दे दिया गया हैं वहां के ए. डी. एम. श्री अरविंदर पांडे जी ने कहा कि आप सोनप्रयाग शटल पुल के पार भंडारा लगाने हेतु सभी तैयारियां पूरी करें
वरिष्ठ उपाध्यक्ष सजीव शर्मा एवं रमेश कुकरेजा ने बताया कि सोनप्रयाग में यहां भंडारा लगाया जाना है कि पैमाईश करवाई गई हैं जो कि 60’x160′ हैं वहां इस बार एक बढ़िया शैंड लगाया जाएगा ताकि यात्रियों के रहने के लिए भी बढ़ीया इंतजाम किया जा सके
कोषाध्यक्ष डॉ पंकज गुप्ता एवं नव कुन्दरा ने बताया कि इस बार श्री केदारनाथ लंगर कमेटी रजि. जालंधर कीं तरफ से भंडारा स्थल के साथ साथ सोनप्रयाग बाजार तक लाईट की व्यवस्था की जा रही हैं जिससे रात में आने वाले यात्रियों को किसी प्रकार की दिक्कत ना हो
सचिव मनीश धीर एवं शिव सूद ने बताया कि श्री केदारनाथ लंगर कमेटी के सहयोग से 2 मई को जालंधर से श्री केदारनाथ धाम एवं श्री बद्रीनाथ धाम की यात्रा के लिए 2 बसे जाएगी जो कि करीब 90 यात्रियों को श्री पांवटा साहिब, श्री नीलकंठ महादेव एवं हरिद्वार की भी यात्रा करवा कर जालंधर वापिस आएगी।
श्री केदारनाथ लंगर कमेटी रजि. जालंधर के महासचिव ने बताया कि श्री केदारनाथ मन्दिर बारह ज्योतिर्लिंग में सम्मिलित होने के साथ चार धाम और पंच केदार में से भी एक हैं और श्री केदारनाथ धाम एक जाग्रत महादेव भी हैं क्योंकि यहां एक शिव भक्त को भगवान भोले शंकर जी ने साक्षात दर्शन देते हुए अपनी योग-माया से 6 महीने को एक रात में परिवर्तित कर दिया और काल-खंड को छोटा कर दिया। यह सब पवित्र मन, श्रद्वा और विश्वास के कारण ही हुआ इसलिए कहा जाता हैं कि सभी शिव भक्त सच्चे मन से एक बार श्री केदारनाथ धाम के दर्शन हेतु जरूर आतें हैं ताकि भगवान भोले शंकर के साक्षात दर्शन कर सके
इस मीटिंग में अमन कुमार, बावा जैरथ, सुमित कपूर, वासु, सहजनीत आदि उपस्थित थे

Leave a Reply