Know all about Resolution process of airline company jet airways | कौन होगा जेट एयरवेज का नया मालिक? कर्ज देने वाले आज करेंगे फाइनल वोटिंग, शाम तक हो सकती है घोषणा


नई दिल्ली3 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

उड़ानें बंद होने के कारण जेट एयरवेज के विमान कई एयरपोर्ट पर पार्किंग में खड़े हैं। (फाइल फोटो)

  • रेजोल्यूशन प्लान को अंतिम रूप देने के लिए 66% वोटों की जरूरत
  • नकदी संकट के कारण अप्रैल 2019 से बंद पड़ा हैं कंपनी की उड़ानें

दिवालिया प्रक्रिया से जूझ रही एयरलाइंस कंपनी जेट एयरवेज को आज नया मालिक मिल सकता है। जेट एयरवेज के रेजोल्यूशन प्लान पर कर्ज देने वाले आज फाइनल वोटिंग करेंगे। शाम तक इस वोटिंग के नतीजे आ सकते हैं। नकदी संकट के कारण अप्रैल 2019 से जेट एयरवेज का संचालन बंद पड़ा है। उड़ानें बंद होने के कारण जेट एयरवेज के विमान कई एयरपोर्ट पर पार्किंग में खड़े हैं।

दो कंपनियां रेस में

जेट एयरवेज को खरीदने के लिए दो कंसोर्टियम ने बोली लगाई है। एक कंसोर्टियम में लंदन की कालरॉक कैपिटल, यूएई के निवेशक मुरारी लाल जालान शामिल हैं। जबकि दूसरे कंसोर्टियम में हरियाणा की फ्लाइट सिमुलेशन टेक्नीक सेंटर और अबु धाबी का इम्पीरियल कैपिटल इन्वेस्टमेंट एलएलसी शामिल हैं।

रेजोल्यूशन प्लान की मंजूरी के लिए 66% वोट जरूरी

जेट एयरवेज के रेजोल्यूशन प्लान के लिए कंपनी को कर्ज देने वालों के 66 फीसदी वोट जरूरी हैं। कर्ज देने वाले कमेटी ऑफ क्रेडिटर्स (सीओसी) में भी शामिल हैं। एक बार सीओसी से रेजोल्यूशन प्लान पास होने के बाद रेजोल्यूशन प्रोफेशनल इसकी मंजूरी के लिए एनसीएलटी के पास आवेदन करेंगे। आशीष झावरिया इस दिवालिया प्रक्रिया के रेजोल्यूशन प्रोफेशनल हैं।

अब तक 16 बार हो चुकी है सीओसी की बैठक

जेट एयरवेज को दिवालिया घोषित करने के लिए जून 2019 में एनसीएलटी में आवेदन किया गया था। इसके बाद से अब तक सीओसी की 16 बार बैठक हो चुकी है। दिवालिया प्रक्रिया के इस साल जून में पूरा होने की उम्मीद थी, लेकिन लॉकडाउन के प्रतिबंधों के कारण इसे 21 अगस्त तक के लिए टाल दिया था। बाद में रेजोल्यूशन प्रोफेशनल ने इसे अनिश्चितकाल तक के लिए टाल दिया था।

कालरॉक कैपिटल कंसोर्टियम बन सकता है नया मालिक?

रिपोर्ट के मुताबिक कालरॉक कैपिटल के नेतृत्व वाला कंसोर्टियम जेट एयरवेज का नया मालिक बन सकता है। इस कंसोर्टियम ने जेट एयरवेज के देनदारों को कुल 886 करोड़ रुपए का बकाया चुकाने का ऑफर दिया है। इसको फ्लाइट सिमुलेशन टेक्नीक सेंटर के ऑफर से बेहतर बताया जा रहा है।



Source link

Leave a Reply