साढ़े आठ लाख के करीब पहुंचा आंकड़ा, कई शहरों में फिर लग सकता है लॉकडाउन

 

Coronavirus Update India: देश में कोरोना वायरस के केसेज साढ़े आठ लाख का आंकड़ा पूरा करने वाले हैं। केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय के मुताबिक, कोविड-19 से रिकवरी रेट 62.93 प्रतिशत हो गया है।

कोरोना: भारत में इन 3 बातों ने बढ़ाई टेंशन

हाइलाइट्स

  • संडे को 28637 नए मामले सामने आए, टोटल 8.49 लाख
  • मरने वालों की संख्‍या 22674 हुई, डेथ रेट 2.66 पर्सेंट
  • कोविड-19 का रिकवरी रेट भारत में 62.93 प्रतिशत
  • थमने का नाम नहीं ले रहे कोरोना वायरस के मामले

नई दिल्‍ली

देश में में रविवार को 29,089 नए कोरोना केस आए जो अपने आप में रेकॉर्ड है। दुनियाभर में कोरोना की स्थिति पर नजर रखने वाली वेबसाइट वर्ल्डोमीटर के मुताबिक, अब भारत में कुल कोरोना केस का आंकड़ा 8,79,447 तक पहुंच गया है। कोविड-19 मरीजों की तादाद में लगातार वृद्धि को देखते हुए आने वाले दिनों में कई शहरों में नए सिरे से लॉकडाउन लगाने की तैयारियां होने लगी हैं।

कई राज्‍यों में लॉकडाउन, कहीं लगाने की तैयारी

उत्तर प्रदेश सरकार ने शनिवार, रविवार को पूरे राज्य में कड़ी पाबंदियां लागू करने का फैसला किया है। इससे पहले कर्नाटक और तमिलनाडु ने रविवार का लॉकडाउन लगा रखा है। असम, अरुणाचल प्रदेश, मेघालय और बिहार जैसे राज्यों ने अलग-अलग अवधियों में क्षेत्रवार लॉकडाउन की घोषणा की है। कर्नाटक सरकार ने बेंगलुरु में 14 जुलाई से सात दिन के लिए पूरी तरह लॉकडाउन का ऐलान किया है। तमिलनाडु के मुख्यमंत्री के पलानीस्वामी ने मदुरै और आसपास के क्षेत्रों में पाबंदियां 14 जुलाई तक बढ़ा दी हैं।

श्रीनगर में भी लगाई गईं पाबंदियां

महाराष्ट्र सरकार ने पहले ही पुणे और पिंपरी-चिंचवाड़ में 13 से 23 जुलाई तक व्यापक लॉकडाउन की घोषणा की थी। राज्य सरकार ने मुंबई के आसपास के क्षेत्रों में भी इसी तरह बंद की घोषणा की थी। कश्मीर में भी अधिकारियों ने रविवार को लॉकडाउन के एक और चरण के सख्ती से क्रियान्वयन की शुरूआत की। ऐतिहासिक लाल चौक को पूरी तरह बंद कर दिया। श्रीनगर के 67 अन्य क्षेत्रों को भी बंद कर दिया गया है जिन्हें पिछले एक सप्ताह में कोविड-19 के मामले अचानक से बढ़ने के बाद निषिद्ध क्षेत्र घोषित किया गया है।

दुनिया की पहली कोविड-19 वैक्‍सीन का ट्रायल पूरा

  • दुनिया की पहली कोविड-19 वैक्‍सीन का ट्रायल पूरा

    दुनिया की पहली कोरोना वायरस वैक्‍सीन का वालंटियर्स पर ट्रायल पूरा हो गया है। यह वैक्‍सीन रूस की Sechenov First Moscow State Medical University ने डेवलप की थी। यून‍िवर्सिटी ने 18 जून से ट्रायल शुरू किए थे।

  • थाइलैंड में शुरू हो गया है क्लिनिकल ट्रायल

    थाइलैंड अपनी कोविड-19 वैक्‍सीन का बंदरों और चूहों पर टेस्‍ट कर चुका है। दोनों में पर्याप्‍त ऐंटीबॉडीज बनती देखी गईं। रिसर्चर्स को उम्‍मीद है कि ऐसा ही असर इंसानों पर भी देखने को मिलेगा। एक्‍सपर्ट्स ने उम्‍मीद जताई है कि अगर ट्रायल्‍स सफल रहते हैं तो थाइलैंड को अगले साल जून तक वैक्‍सीन मिल सकती है। वहां पर ह्यूमन ट्रायल सितंबर से शुरू होने की उम्‍मीद है।

  • सबसे आगे रही वैक्‍सीन ट्रायल में पिछड़ी

    चीन की वैक्‍सीन डेवलपर CanSino Biologics अपनी कोरोना वैक्‍सीन का फेज 3 ट्रायल शुरू करने वाली है। इसके लिए रूस, ब्राजील, सऊदी अरब और चिली से बातचीत हो रही है। कंपनी टेस्‍ट के लिए 40,000 पार्टिसिपेंट्स चाहती है। Ad5-nCov नाम की वैक्‍सीन मार्च में ही ह्यूमन टेस्टिंग के दौर में पहुंच गई थी मगर ट्रायल में पिछड़ गई है। Sinovac Biotech और China National Pharmaceutical Group (Sinopharm) की वैक्‍सीन को पहले ही फेज 3 के लिए अप्रूवल मिल चुका है। Beijing Institute of Biotechnology की वैक्‍सीन ने भी फेज 2 के ट्रायल में शानदार नतीजे दिए हैं।

  • दुनियाभर में 21 वैक्‍सीन का हो रहा है क्लिनिकल ट्रायल

    दुनिया भर में कोरोना की करीब 160 वैक्‍सीन पर रिसर्च चल रही है। वर्ल्‍ड हेल्‍थ ऑर्गनाइजेशन (WHO) के अनुसार, उनमें से 21 क्लिनिकल इवैलुएशन की स्‍टेज में हैं।

  • भारत में कब तक आएगी कोरोना वैक्सीन?
  • 'लोगों को वैक्‍सीन मिले, सबसे ज्‍यादा बोली लगाने वाले को नहीं'

    माइक्रोसॉफ्ट के फाउंडर बिल गेट्स ने कहा है कि कोरोना वैक्‍सीन उन्‍हें मिलनी चाहिए जिसे इसकी सबसे ज्‍यादा जरूरत है, न कि ‘सबसे ज्‍यादा बोली लगाने वाले को।’ उन्‍होंने कहा, “अगर वह दवाओं और वैक्‍सीन्‍स को लोगों के बजाय, जहां उनकी सबसे ज्‍यादा जरूरत है, सबसे बड़ी बोली लगाने वाले के पास जाने देंगे तो महामारी लंबी और क्रूर तरीके से आगे बढ़ेगी।”

 

रिकवरी रेट में आया सुधार

वर्ल्डोमीटर के मुताबिक, रविवार को 500 कोविड-19 मरीजों की मौत हुई और इसके साथ ही इस महामारी से मरने वालों की कुल तादाद 23,187 तक पहुंच चुकी है। वहीं, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, देश में स्‍वस्‍थ होने वाले लोगों की संख्‍या तेजी से बढ़ रही है। मंत्रालय के मुताबिक, रविवार तक ठीक हुए लोगों की संख्या कोविड-19 के ऐक्टिव केसेज की संख्या से 2,42,362 अधिक हैं। एक बयान में कहा गया है कि रिकवरी रेट सुधर कर 62.93 प्रतिशत हो गया है। देश में इस समय कोरोना वायरस से संक्रमित 2,92,258 मरीजों का इलाज चल रहा है।

कोरोना से मां के बाद 2 बेटों की मौत, तीसरा गंभीर

भारत में कोरोना से मृत्‍यु-दर बहुत कम

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने रविवार को कहा कि व्यापक जांच, निगरानी और क्लिनिकल मैनेजमेंट से कोविड-19 के मामलों की जल्द पहचान की वजह से भारत में 2.66 प्रतिशत की कम मृत्यु दर है। उन्होंने कहा कि संक्रमित लोगों के ठीक होने की दर से हमारी सफलता आंकी जा सकती है जो इस समय करीब 63 प्रतिशत है। उनके हवाले से एक बयान में कहा गया, ‘इससे भारत सबसे कम मृत्यु दर वाले देशों में शुमार है जहां संक्रमण से मौत की दर 2.66 प्रतिशत है। लोगों के स्वस्थ होने की दर में हमारी सफलता देखी जा सकती है जो तकरीबन 63 प्रतिशत है। 5.3 लाख से अधिक रोगी अब तक ठीक हो चुके हैं।’

Delhi Corona Update: कोरोना से जीत रही दिल्ली, 5 बातें दे रहीं सबूतDelhi Corona Update: कोरोना से जीत रही दिल्ली, 5 बातें दे रहीं सबूतदिल्ली जिस राह पर चल रही है अगर सब वैसा ही चलता रहा तो हम जल्द कोरोना वायरस (corona news delhi) को हरा सकते हैं। दिल्ली में 5 ऐसे पॉजिटिव साइन दिखे हैं जो बताते हैं कि स्थिति अब सुधर रही है। दिल्ली का रिकवरी रेट 70 प्रतिशत से ऊपर है। अभी सिर्फ 19 हजार ऐक्टिव केस हैं। मृत्यु दर जो पहले 3.64 फीसदी हो गई थी वह घटकर 3.02 प्रतिशत पर आ गई है। होम आइसोलेशन में इस महीने अबतक कोई मौत नहीं हुई है। भारत में 45 फीसदी मौतें पहले 48 घंटों के दौरान होती हैं। दिल्ली में यह आंकड़ा 15 फीसदी पर आ गया है।

कोविड-19 के खिलाफ जंग में भारत की स्थिति बेहतर : शाह

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने रविवार को कहा कि भारत कोरोना वायरस वैश्विक महामारी से निपटने की जंग में ‘बेहतर स्थिति’ में है। शाह ने कहा, ‘दुनिया देख रही है कि अगर विश्व में कहीं भी कोरोना वायरस के खिलाफ सफलतापूर्वक लड़ाई लड़ी गई है तो वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भारत में लड़ी गई है।’ उन्होंने कहा, ‘ऐसा डर था कि हमारे जैसे बड़े देश में इस चुनौती का सामना कैसे किया जाएगा ,जहां शासन का ढांचा संघीय है, 130 करोड़ लोगों की घनी आबादी है और सत्ता की कमान की कोई एक श्रृंखला नहीं है।’

कोरोना पर हर अपडेट यहां देखें

बिहार में 1 दिन में मिले कोरोना के 1000 से ज्यादा मरीज

बिहार में पहली बार रविवार को एक दिन में एक हजार से ज्यादा 1,266 कोरोना के नए मरीज मिले, जिससे बिहार में कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 16,305 हो गई है। इसी दौरान संक्रमित सात लोगों की मौत हो गई, जिससे मौतों का आंकड़ा बढ़कर 125 हो गया। ओडिशा में रविवार को कोविड-19 के 595 नए मामले सामने आने के बाद प्रदेश में संक्रमण के कुल मामले 13,000 से अधिक हो गए। कोविड-19 के तीन और मरीजों की मौत होने के बाद राज्य में इस महामारी से जान गंवाने वालों की संख्या बढ़कर 64 हो गई। तेलंगाना में रविवार को 1269 और लोगों में कोरोना वायरस की पुष्टि हुई। इसके बाद कोविड-19 के मामलों की संख्या 34,671 पहुंच गई। वहीं आठ और लोगों की मौत के बाद मृतकों का आंकड़ा 356 हो गया।

कोरोना वैक्‍सीन बनाने में रूस ने मारी बाजी, ट्रायल पूरा करने का दावाकोरोना वैक्‍सीन बनाने में रूस ने मारी बाजी, ट्रायल पूरा करने का दावादुनिया की पहली कोरोना वायरस वैक्‍सीन का वालंटियर्स पर ट्रायल पूरा हो गया है। रूस की Sechenov First Moscow State Medical University ने यह दावा किया है। वालंटियर्स पर 18 जून से ट्रायल शुरू किए थे। अगर यह दावा सच है तो कोरोना वैक्‍सीन डेवलपमेंट में रूस सबसे आगे निकल गया है क्‍योंकि अभी तक किसी और वैक्‍सीन का ट्रायल पूरा नहीं हो सका। चीन, अमेरिका और अन्‍य कई देशों की वैक्‍सीन ट्रायल के फेज 2 या 3 में हैं। कुछ वैक्‍सीन तो ट्रायल के शुरुआती दौर में ही फेल हो गईं मगर रूस ने पहली वैक्‍सीन की सफलता का दावा किया है। यूनिवर्सिटी के इंस्टीट्यूट फॉर ट्रांसलेशनल मेडिसिन एंड बायोटेक्नोलॉजी डायरेक्‍टर वदिम तरासोव के मुताबिक गेमली इंस्टीट्यूट ऑफ एपिडेमियोलॉजी एंड माइक्रोबायोलॉजी ने यह वैक्‍सीन तैयार की है। उन्‍होंने स्‍पतनिक से बातचीत में कहा कि सारे सेफ्टी स्‍टैंडर्ड्स पर खरा उतरने के बाद ही वैक्‍सीन का ट्रायल पूरा हुआ है।

राजस्‍थान में 644 नए केस

पंजाब में रविवार को कोरोना वायरस के 234 नए मामले सामने आने के बाद संक्रमितों की संख्या बढ़कर 7,821 पहुंच गई है जबकि इस महामारी से चार और मरीजों की मौत होने से मृतक संख्या 199 हो गई है। स्वास्थ्य विभाग ने यह जानकारी दी। मेडिकल बुलेटिन के अनुसार राज्य में कोविड-19 के अभी 2,230 मरीजों का इलाज चल रहा है। राजस्थान में कोरोना वायरस के संक्रमण से रविवार को सात और लोगों की मौत दर्ज की गई जिससे राज्य में संक्रमण से मरने वालों की कुल संख्या 510 हो गई है। इसके साथ ही राज्य में 644 नये मामले सामने आने से राज्य में इस घातक वायरस से संक्रमितों की अब तक की कुल संख्या 24,392 हो गई जिनमें से 5,779 रोगी इलाज करा रहे हैं। मध्य प्रदेश में रविवार को कोरोना वायरस से संक्रमण के 431 नए मामले सामने आए। इसके साथ ही प्रदेश में कुल संक्रमितों की संख्या 17,632 तक पहुंच गई।

 

 

Source link

Leave a Reply