Data localisation: us wants to prohibit data localisation says top trade official – डेटा के स्थानीयकरण की भारतीय नीति से सहमत नहीं है अमेरिका!


भाषा | Updated:

वॉशिंगटन

अमेरिका अलग-अलग देशों में सूचना के मुक्त प्रवाह का हवाला देते हुए डेटा को स्थानीय सर्वर में संग्रहित करने की नीति पर रोक चाहता है। डेटा के स्थानीयकरण संबंधी भारत के हालिया दिशा-निर्देशों के खिलाफ अमेरिका की शीर्ष कंपनियों द्वारा विरोध जताए जाने के बीच ट्रंप प्रशासन के एक वरिष्ठ अधिकारी ने यह बात कही है। डेटा लोकलाइजेशन या डेटा के स्थानीयकरण का मतलब है, आंकड़ों को उसी देश में संग्रहित करना, जहां से वह जुड़े हैं।

भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने अप्रैल में अपने परिपत्र में भुगतान सेवा देने वाले सभी परिचालकों को यह सुनिश्चित करने के लिए कहा था कि भुगतान संबंधी डेटा का संग्रहण उन्हें केवल भारत में ही स्थापित एक प्रणाली में करना होगा। रिजर्व बैंक ने ऐसा करने के लिए कंपनियों को 15 अक्टूबर तक की मोहलत दी थी। ऐसे में अमेरिका के उप व्यापार प्रतिनिधि और डब्ल्यूटीओ में अमेरिका के राजदूत डेनिस शीया ने शुक्रवार को कहा, ‘हम एक सीमा से दूसरी सीमा तक सूचना और डेटा के मुक्त प्रवाह के लिए आंकड़ों के स्थानीयकरण पर रोक चाहते हैं।’

शीया ने कहा कि वे डिजिटल ट्रांसमिशन के लिए कर या शुल्क पर स्थायी प्रतिबंध चाहते हैं। उन्होंने एक सवाल के जवाब में कहा, ‘हम चाहते हैं कि दक्षिण अफ्रीका और भारत इन शुल्कों पर रोक के बारे में नए सिरे से सोचें।’ इस बीच ऐसी खबरें भी आ रही हैं कि भारतीय रिजर्व बैंक के दिशा-निर्देशों के खिलाफ अमेरिकी वित्तीय कंपनियों ने ट्रंप प्रशासन से संपर्क किया है।

 

पाइए बिज़नस न्यूज़ समाचार(Business news News in Hindi)सबसे पहले नवभारत टाइम्स पर। नवभारत टाइम्स से हिंदी समाचार (Hindi News) अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App और रहें हर खबर से अपडेट।

Business news
News
 से जुड़े हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए NBT के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें
Web Title us wants to prohibit data localisation says top trade official

(Hindi News from Navbharat Times , TIL Network)





Source link

Leave a Reply