बिहार में धर्म प्रचार करने आए 17 विदेशी जमाती भेजे गए जेल, टूरिस्ट वीजा पर चला रहे थे अपना एजेंडा

 पटना

धर्म प्रचार के लिए बिहार आए लोगों को जेल भेज दिया गया है। किर्गिस्तान, कजाकिस्तान और मलेशिया से आकर पटना में धार्मिक प्रचार कर रहे 17

जमातियों को जेल भेज दिया गया है। पुलिस के अनुसार जेल भेजे गये जमातियों का वीजा जून तक वैध था, लेकिन सभी टूरिस्ट वीजा पर भारत आए थे ऐसे में वह धार्मिक प्रचार नहीं कर सकते थे।

जानकारी के मुताबिक जेल भेजे गये किसी भी जमाती ने नियमों का पालन तक नहीं किया है। इसलिए सभी 17 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज

कर जेल भेज दिया गया है।

बता दें कि कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को लेकर जब देश में कोरोना से बचने के लिए 22 मार्च को जनता कर्फ्यू घोषित किया गया था। तब पटना के दीघा थानाक्षेत्र स्थित कुर्जी इलाके के एक मस्जिद में जमात के द 10 लोग छिपे बैठे थे। ये सभी जमाती किर्गिस्तान से टूरिस्ट वीजा लेकर भारत आए थे। जनता कर्फ्यू की घोषणा के बाद जब गली के अंदर बने मस्जिद में इनके छिपे होने की सूचना मिली तो स्थानीय लोगों ने विरोध करना शुरू किया और पुलिस को इसकी सूचना दी।

उसके ठीक दूसरे दिन यानी 23 मार्च को पटना के ही फुलवारी इलाके मे छिपे 7 विदेशी को पकड़ा गया। पटना के मस्जिद में छिपे 17 विदेशियों के पकड़े जाने के बाद सनसनी फैल गयी थी। बता दें कि इन 17 विदेशियों में 9 किर्गिस्तान, 7 मलोशिया और 1 कजाकिस्तान का रहने वाला है।

पकड़े गए सभी जमातियों को पटना के एम्स में भर्ती कराया गया था। सभी का तीन बार कराए गये कोरोना जांच में सभी की रिपोर्ट निगेटिव आने के बावजूद उन्हें 14 दिन तक क्वारंटीन में रखा गया। पुलिस के अनुसार टूरिस्ट वीजा पर भारत आए इन विदेशियों ने ना तो पुलिस प्रशासन को अपने आने की सूचना दी, ना ही नियमों के अनुसार फार्म-सी भरा था। बताया गया है कि बेउर जेल भेजे गये सभी जमातियों को स्क्रीनिंग के बाद जेल के अंदर दाखिल कराया गया है और सभी को अन्य कैदियों से अलग वार्ड में रखा जाएगा।

Source link

Leave a Reply