Business News: americais searching for other oprtions to fulfill indias oil needs after sanctions on iran – ईरान पर लगे प्रतिबंध के बाद भारत को तेल आपूर्ति के वैकल्पिक रास्ते तलाश रहा अमेरिका


न्यू यॉर्क

अमेरिका ईरान पर प्रतिबंध के बाद भारत के लिए तेल आपूर्ति के वैकल्पिक रास्ते तलाश रहा है। ट्रंप प्रशासन के एक शीर्ष अधिकारी ने बताया कि ईरान पर 4 नवंबर से अमेरिका के कड़े प्रतिबंध लागू होने के बाद भारत में तेल के आयात की जरूरत को अमेरिका समझता है। इस अधिकारी ने कहा, ‘हमारे मित्र भारत के लिए वैकल्पिक आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए बातचीत की जा रही है, जिससे कि उनकी अर्थव्यवस्था पर इसका बुरा असर नहीं पड़े।’

इस साल की शुरुआत में अमेरिका 2015 के ईरान परमाणु संधि से पीछे हट गया था और ईरान पर कड़े प्रतिबंध लगा दिए थे। पहले चरण का प्रतिबंध पहले से ही प्रभावी है और 4 नवंबर से यह प्रतिबंध पूर्ण रूप से लागू हो जाएगा। अमेरिका उम्मीद करता है कि भारत सहित सभी देश ईरान से तेल का आयात शून्य तक ले आएंगे। अमेरिका ने यह साफ कर दिया है कि ईरान के साथ जो भी देश व्यापार करेगा, उसे अमेरिकी बैंकिंग प्रणाली और वित्तीय प्रणाली से बहिष्कृत कर दिया जाएगा।

गौरतलब है कि इस प्रतिबंध पर संयुक्त राष्ट्र की मुहर नहीं लगी है। भारत की हमेशा से यह पारंपरिक नीति रही है कि वह सिर्फ संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद द्वारा लगाए गए प्रतिबंधों को ही मानता रहा है। ईरान से तेल का आयात करने वाले देशों में से एक भारत ने पहले ही वहां से तेल का आयात कम कर दिया है, लेकिन ऐसे संकेत दिए हैं कि अपनी ऊर्जा जरूरतों को ध्यान में रखते हुए इसे खत्म नहीं किया जाएगा।

ब्यूरो ऑफ साउथ ऐंड सेंट्रल एशिया रीजन की मुख्य उप-सहायक सचिव ने कहा, ‘अमेरिका अपने सभी मित्रों और सहयोगियों के साथ प्रतिबंध लागू होने पर चर्चा कर रहा है। हम भारत के तेल आयात की जरूरत को समझते हैं। इस चर्चा का हिस्सा भारत को तेल की वैकल्पिक आपूर्ति सुनिश्चित करना है ताकि भारत की अर्थ व्यवस्था पर इसका बुरा असर न पड़े।’





Source link

Leave a Reply