Bjp Will Strengthen The Stronghold Of South India – दक्षिण भारत में अपने जनाधार को और मजबूत करेगी भाजपा


डिजिटल ब्यूरो, अमर उजाला, नई दिल्ली
Updated Tue, 31 Jul 2018 12:12 PM IST

ख़बर सुनें

भारतीय जनता पार्टी ने दक्षिण भारत की तरफ तेजी से पांव पसारना शुरू कर दिया है। कर्नाटक में पार्टी के वरिष्ठ नेता बीएस येदियुरप्पा लगातार सक्रिय हैं तो आंध्र प्रदेश में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने मुरलीधर राव को वहां का प्रभारी बनाया है। राव के साथ त्रिपुरा में पार्टी की जीत के सूत्रधार रहे सुनील देवधर को सह प्रभारी के रूप में नियुक्त किया गया है। सुनील देवधर को एक ईनाम और मिला। वह सत्या कुमार के साथ राष्ट्रीय सचिव नियुक्त किए गए हैं। वहीं दुष्यंत कुमार गौतम को राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बनाया है।

 

इसी कड़ी में भाजपा अध्यक्ष ने केरल को पीएस श्रीधरन पिल्लई का चेहरा दिया है। पिल्लई भाजपा अध्यक्ष बनाए गए हैं। वह पहले के केरल भाजपा अध्यक्ष के मुतकाबले उदारवादी छवि के हैं। केरल में भाजपा काफी सक्रिय है। वहां जनाधार बढ़ाने की कोशिश हो रही है। ऐसे में श्रीधरन पिल्लई से उसे काफी उम्मीदें हैं। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह लगातार दक्षिण भारत को लेकर सक्रिय हैं। दक्षिण भारत के कई छोटे-छोटे जनाधार वाले नेताओं, दलों के भी वह लगातार संपर्क में हैं।

आंध्र प्रदेश में चंद्रबाबू नायडू के एनडीए से अलग होने के बाद से भाजपा वहां अपनी सक्रियता बढ़ाने में लगी है। मुरलीधर राव को एक अच्छा रणनीतिकार माना जाता है। उनके साथ सुनील देवधर को लगाया गया है। सुनील देवधर ने त्रिपुरा में भाजपा को सत्ता में लाकर अपने रणनीतिकि कौशल को दिखा दिया है। उनकी इस प्रतिभा को भाजपा अब आंध्र प्रदेश में अजमाना चाह रही है।

हालांकि सूत्रों का कहना है कि त्रिपुरा के सीएम विप्लब देव कभी सुनील देवधर के मुरीद थे। अब मामला थोड़ा कम बन रहा है। इसकी वजह वहां नई सरकार बनने के बाद सुनील देवधर का त्रिपुरा के कामकाज में कुछ हद तक हस्तक्षेप बताया जा रहा है। बताते हैं सुनील देवधर के इस तरह के प्रयास से मुख्यमंत्री विप्लब देव कुछ खिन्न चल रहे थे। इसलिए पार्टी आलाकमान ने सुनीध देवधर को नई जिम्मेदारी दे दी है।

 

 

 





Source link

Leave a Reply