दो हजार तालिबानी कैदी रिहा करेगा अफगानिस्तान


Edited By Shatakshi Asthana | नवभारतटाइम्स.कॉम | Updated:

अशरफ गनी

काबुल

ऐसे वक्त में जब दुनिया कोरोना वायरस से जूझ रही है, अफगानिस्तान और तालिबान के बीच संघर्ष कुछ थमने लगा है। तालिबान ने ईद पर संघर्षविराम का ऐलान किया तो अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी ने रविवार को 2,000 तालिबानी कैदियों को रिहा करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। यह जानकारी गनी के प्रवक्ता सेदिक सिद्दीकी ने दी है।

शांति प्रक्रिया के लिए उठा रहे कदम

सिद्दीकी ने ट्वीट किया, ‘सरकार शांति की पेशकश कर रही है और आगे कदम उठा रही है ताकि शांति प्रक्रिया को सुनिश्चित किया जा सके।’ उन्होंने बताया कि तालिबान के कदम की प्रतिक्रिया में कैदियों को रिहा करने की बात कही है। कुछ दिन पहले ही अमेरिका के शांति दूत जे. खलीलजाद ने काबुल और दोहा की यात्रा की थी।

ईद का जश्नः अफगानिस्तान-तालिबान के बीच तीन दिन का सीजफायर

खलीलजाद ने अपनी यात्रा के दौरान तालिबान और अफगान सरकार दोनों से हिंसा को कम करने तथा अंतर-अफगान वार्ता की ओर बढ़ने का अनुरोध किया था जो फरवरी में तालिबान के साथ हुए अमेरिका के शांति समझौते का अहम स्तंभ है।

तालिबान ने दिया लड़ाई रोकने का आदेश

वहीं, तालिबान ने संघर्ष विराम की घोषणा करते हुए अपने नेता की ओर से ईद-उल-फितर का एक संदेश दिया जिसमें कहा गया है कि समूह शांति समझौते के लिए प्रतिबद्ध है और वह इस्लामिक व्यवस्था के तहत महिलाओं और पुरुषों के अधिकारों की गारंटी का वादा करता है। तालिबान ने अपने आदेश में लड़ाकों को न केवल लड़ाई रोकने बल्कि अफगान राष्ट्रीय सुरक्षा बलों के साथ मित्रतापूर्वक व्यवहार करने का भी आदेश दिया है।



Source link

Leave a Reply