इंटरनैशनल स्पेस स्टेशन पहुंचा नासा का Crew Dragon


NASA-SpaceX Launch: अमेरिका के Astronauts Rob Behnken और Doug Hurley इंटरनैशनल स्पेस स्टेशन (ISS) पहुंच चुके हैं। साल 2011 के बाद से पहली बार America की धरती से Astronauts स्पेस पहुंचे हैं। ये Spacecraft Crew Dragon SpaceX कंपनी के Falcon 9 रॉकेट से लॉन्च किया गया था।

Edited By Shatakshi Asthana | नवभारतटाइम्स.कॉम | Updated:

स्पेस स्टेशन के अंदर पहुंचे ऐस्ट्रोनॉट्स

फ्लोरिडा

अमेरिका की स्पेस एजेंसी NASA (नैशनल ऐरोनॉटिक्स ऐंड स्पेस ऐडमिनिस्ट्रेशन) ने आखिरकार 9 साल बाद इतिहास कायम कर लिया है। अमेरिका की धरती से लॉन्च किया गया स्पेसक्राफ्ट Crew Dragon इंटरनैशनल स्पेस स्टेशन (ISS) पहुंच गया है। 19 घंटे के सफर के बाद NASA के वेटरन ऐस्ट्रोनॉट्स डग हर्ली और बॉब बेनकेन ने सफलतापूर्वक Crew Dragon को ISS पर डॉक कर लिया।

केनेडी स्पेस सेंटर से लॉन्च

दोनों ऐस्ट्रोनॉट्स को भारतीय समय के अनुसार शनिवार देर रात करीब 1 बजे फ्लोरिडा के केनेडी स्पेस सेंटर के लॉन्च पैड से Elon Musk की कंपनी SpaceX के Falcon 9 रॉकेट से लॉन्च किया गया था। NASA का स्पेस शटल प्रोग्राम 2011 में पूरा हो गया था जिसके बाद से रूस के रॉकेट्स का सहारा स्पेस में जाने के लिए किया जा रहा था। ऐसा पहली बार हुआ है कि ऐस्ट्रोनॉट्स किसी प्राइवेट कंपनी के रॉकेट से स्पेस के लिए निकले हैं।

बुधवार को टल गया था लॉन्च

इससे पहले इस लॉन्च की कोशिश बुधवार को भी की गई थी लेकिन मौसम खराब होने की वजह से लॉन्च रविवार के लिए टाल दिया गया था। रविवार को Crew Dragon में अधिकतम 7 यात्रियों के बैठने की जगह है लेकिन इस बार केवल दो यात्रियों को लेकर यह यान रवाना हुआ है। बाकी की सीटों पर इनके लिए सप्लाई को रखा गया है। दोनों ऐस्ट्रोनॉट्स का स्पेस सूट भी Elon Musk ने खुद डिजाइन किया है।

नासा ने कहा- गर्व का क्षण

  • नासा ने कहा- गर्व का क्षण

    नासा के ऐडमिनिस्ट्रेटर जिम ब्राइडेनस्टीन ने ट्वीट करते हुए बताया, ‘9 साल में पहली बार अब हमने अमेरिकी Astronauts को अमेरिकी रॉकेट के जरिए अमेरिका की धरती से भेजा है। मुझे नासा और SpaceX टीम पर गर्व है, जिसने हमें इस क्षण को देखने का मौका दिया है। यह एक बहुत अलग तरह की फीलिंग है, जब आप अपनी टीम को इस रॉकेट पर देखते हैं। ये हमारी टीम है। यह Launch America है।’

  • लॉन्च अमेरिका का सपना 9 साल बाद पूरा

    अमेरिका के इतिहास में NASA (नैशनल ऐरोनॉटिक्स ऐंड स्पेस ऐडमिनिस्ट्रेशन) ने मंगल मिशन समेत कई अहम कीर्तिमान जॉन एफ केनेडी स्पेस सेंटर से अपने नाम किए। लेकिन 2011 के बाद से इस पर ब्रेक लग गया। अमेरिकी ऐस्ट्रोनॉट्स रूस की मदद से स्पेस में जाते रहे। अब NASA वापस अमेरिका की मिट्टी से अपने ऐस्ट्रोनॉट्स को अपने देश के रॉकेट्स में बैठाकर स्पेस में भेजा है। पूरी दुनिया की निगाहें इस मिशन पर टिकी थीं।

  • कल्पना चावला का कोलम्बिया यहीं से लॉन्च हुआ था

    चांद पर जाने वाला Apollo, मंगल पर जाने वाला Mariner और भारतीय मूल की ऐस्ट्रनॉट कल्पना चावला को ले जाने वाला शटल Columbia भी यहीं से लॉन्च हुआ था। 2011 के बाद से यहां से कोई लॉन्च नहीं हुआ और अमेरिका के ऐस्ट्रोनॉट्स रूस के Soyuz रॉकेट्स से स्पेस में जाते रहे।

  • 19 घंटे का सफर तय कर पहुंचेंगे ISS

    Elon Musk की कंपनी SpaceX का रॉकेट वेटरन ऐस्ट्रोनॉट्स Robert Behnken और Douglas Hurley को ISS तक ले जाने के लिए लॉन्च हुआ। दोनों अंतरिक्ष यात्री 19 घंटे का सफर तय करते हुए इसे लेकर इंटरनैशनल स्पेस सेंटर (ISS) पहुंचेंगे।

आगे के लिए तैयार हैं Muskटेस्ला इस समय अपना पूरा ध्यान रोडस्टर नाम की फ्लाइंग कार बनाने पर फोकस किए हुए है। बता दें कि साल 2017 में एलन मस्क ने इस कार को सार्वजनिक किया था लेकिन इसे लेकर परीक्षण अब भी जारी हैं। पहले इस कार को 2020 के अंत तक लॉन्च होना था लेकिन कुछ रिपोर्ट के अनुसार, इस प्रोजक्ट को पूरा होने में 2022 तक का समय लगेगा।

Web Title crew dragon spacecraft successfully docked at the international space center carrying rob behnken and doug hurley(Hindi News from Navbharat Times , TIL Network)

रेकमेंडेड खबरें



Source link

Leave a Reply